षड्यंत्र पूर्वक दमनात्मक कार्यवाहियां बंद करे भाजपा सरकारें

Posted By | Categories Press Release

प्रेस विज्ञप्ति
सोशलिस्ट पार्टी मध्य प्रदेश दिनांक 29 अगस्त 2018

आदिवासी, दलितों पर हो रहे राजकीय दमन के विरोध में लड़ने वाले साथियों पर षड्यंत्र पूर्वक दमनात्मक कार्यवाहियां बंद करे भाजपा सरकारें l

छत्तीसगढ़ की वरिष्ठ मानवाधिकार कार्यकर्त्ता, ट्रेडयुनियनिस्ट, एवं हाई कोर्ट की अधिवक्ता सुधा भारद्वाज, गौतम नवलखा, स्टेन स्वामी सहित अन्य मानवाधिकार कार्यकर्ता लेखक और वकीलों की देश के कई हिस्सों में की गई गिरफ़्तारी की सोशलिस्ट पार्टी मध्य प्रदेश कड़े शब्दों में निंदा करती हैं और उनकी शीघ्र रिहाई की मांग करती हैं । पार्टी की मध्य प्रदेश ईकाई के अध्यक्ष रामस्वरूप मंत्री एवं लोहिया विचार मंच के प्रदेश अध्यक्ष राम बाबू अग्रवाल ने आज जारी बयान में कहा कि भरद्वाज छत्तीसगढ़ में पिछले 30 वर्षो से शहीद शंकर गुहा नियोगी के संगठन के साथ जुड़कर मजदूरो के हकों की लड़ाई लड़ रही हैं l जनपक्षीय अधिवक्ता के रूप में प्रदेश के वंचितों के अधिकारों के लिए बिलासपुर उच्च न्यायालय में सतत पैरवी कर रही हैं और प्रदेश में राजकीय दमन के खिलाफ मानवाधिकारों की रक्षा हेतु संघर्षरत हैं l

आपने कहा कि वह एक मानवाधिकार अधिवक्ता होने के नाते छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में आदिवासियों की मुठभेड़ों में बंदी प्रत्यक्षीकरण के प्रकरणों में पेश हुई और निडरता के साथ मानवाधिकार रक्षकों की पैरवी करती रही । जब हाल ही में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने छत्तीसगढ़ के सुकमा के कोडासवाली गांव में एक जांच में उनका सहयोग मांगा था तब भी वह अपनी व्यवसायिक ईमानदारी और साहस के साथ पेश आई । यदि यही उनका दोष है तो वे तमाम लोग भी उतने ही दोषी हैं जो अधिनायकवाद, फासीवाद और भूमंडलीकरण की ताकतों द्वारा पैदा खतरों और चुनौतियों का सामना रचनात्मक और आलोचनात्मक तौर-तरीकों से करते आ रहे हैं।

श्री मंत्री ने कहा कि पूरे देश में भय और आतंक का माहोल पैदा किया जा रहा हैं l दलित, आदिवासी, किसान मजदूर, अल्पसंख्यकों पर लगातार हमले हो रहे हैं l फासीवादी ताकते सरकारी संरक्षण में हमले कर रही हैं – चाहे वह भीमा कोरेगांव हो या जशपुर के बछरांव गाँव जंहा उन्मादी भीड़ द्वारा आदिवासियों के संवैधानिक हकों को दर्शाते शिलालेख को तोड़ा गया l भाजपा सरकारे अपने चहेते कार्पोरेट की लूट को सुनिश्चित करने के लिए तमाम संवैधानिक व लोकतान्त्रिक अधिकारों को लगातार कुचल रही हैं l
आपने कहा कि कार्पोरेट की इस लूट के खिलाफ, सरकारों की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ, फासीवादी ताकतों के खिलाफ लोकतान्त्रिक व नागरिक अधिकारों पर कार्य करने वाले, उन पर अपनी राय रखने वाले सामाजिक कार्यकर्त्ता, बुद्धिजीवी, वकील, पत्रकार. छात्र व नौजवानों को षड्यंत्रपूर्वक फर्जी मामलों में जेल भेजा जा रहा हैं l

पूर्व के दिनों में भीमा कोरेगांव के नाम पर महाराष्ट में हुई गिरफ्तारियां इसका उदाहरण हैं l सोशलिस्ट पार्टी मध्य प्रदेश पुनः इन गिरफ्तारियों की कड़े शब्दों में निंदा करती हैं और सभी मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की रिहाई व् झूठे आरोप लगाकर थोपी गई धाराओं को वापस लेने की मांग करती है. l

भवदीय
रामस्वरूप मंत्री
प्रदेश अध्यक्ष, सोशलिस्ट पार्टी मध्य प्रदेश
9425902303,7999952909

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *